EDUCATION

भारत की शिक्षा प्रणाली वही है, जो अंग्रेज सरकार ने भारत के मन पर थोपी है।

मैं अध्यापक रहा हूँ। और विश्वविद्यालय में मैंने पढ़ना छोड़ दिया है क्योंकि मैं अपनी अंतरात्मा के विपरीत कुछ भी नहीं कर सकता। और तुम्हारी पूरी शिक्षा प्रणाली मनुष्य की सहायता करने के लिए नहीं है, उसे पंगु बनाने के लिए है। तुम्हारी शिक्षा प्रणाली न्यस्त स्वार्थी को मजबूत करने के लिए बनी है। मैं यह करने मैं असमर्थ था। मैंने इसे करने से इनकार कर दिया।

Related posts

If You Don’t Give At All You Will Lose Your Natural Qualities.

Rajesh Ramdev Ram

Debate is Between two Minds, two Heads; Love, Communication, Trust, is Between two Hearts.

Rajesh Ramdev Ram

In Pythagoras’ language, THE HERO MEANS ONE WHO HAS BECOME ENLIGHTENED.

Rajesh Ramdev Ram

Leave a Comment