Month : June 2017

HINDI

परमात्मा अगर वासना के विपरीत होता तो वासना होती ही नहीं।

Rajesh Ramdev Ram
एक ही सीढ़ी के दो छोर: जैसे बीज और वृक्ष; जैसे अंडा और मुर्गी। वासना ही एक दिन पंख पा लेती है इसलिए मेरे मन...
EDUCATION

भारत की शिक्षा प्रणाली वही है, जो अंग्रेज सरकार ने भारत के मन पर थोपी है।

Rajesh Ramdev Ram
मैं अध्यापक रहा हूँ। और विश्वविद्यालय में मैंने पढ़ना छोड़ दिया है क्योंकि मैं अपनी अंतरात्मा के विपरीत कुछ भी नहीं कर सकता। और तुम्हारी...